Currently browsing:- Prernadayak Kahaniya in Hindi:


ads


moral story in hindi on daughter

जब तक बेटी हमारे घर है उनकी हर इच्छा जरूर पूरी करे!!

पाँच साल की बेटी बाज़ार में गोल गप्पे खाने के लिए मचल गई। “किस भाव से दिए भाई?” पापा नें सवाल् किया। “10 रूपये के 8 दिए हैं। गोल गप्पे वाले ने जवाब दिया… पापा को मालूम नहीं था गोलगप्पे इतने महँगे हो गये है…. जब वे खाया करते थे तब तो एक रुपये के…

Anmol Vachan in Hindi

मम्मी पापा ११ बजे की गाड़ी से आ रहे है !!

फ़ोन की घंटी तो सुनी मगर आलस की वजह से रजाई में ही लेटी रही। उसके पति राहुल को आखिर उठना ही पड़ा। दूसरे कमरे में पड़े फ़ोन की घंटी बजती ही जा रही थी। इतनी सुबह कौन हो सकता है जो सोने भी नहीं देता, इसी चिड़चिड़ाहट में उसने फ़ोन उठाया। “हेल्लो, कौन” तभी…

दयालु लकड़हारा!! (Short Moral Story in Hindi)

दयालु लकड़हारा!! (Short Moral Story in Hindi) बहुत समय पहले किशनपुर गाँव में रामू नाम का एक गरीब लकड़हारा रहता था। वह दूसराे की मदद के लिए हमेशा तैयार रहता। जीवाें के प्रति उसके मन में बहुत दया थी। एक दिन वह जंगल से लकड़ी इकट्ठी करने के बाद थक गया ताे थाेड़ी देर सुस्ताने…

Anmol Vachan in Hindi

मानवता का अप्रतिम उदाहरण!

कल बाज़ार में फल खरीदने गया, तो देखा कि एक फल की रेहड़ी की छत से एक छोटा सा बोर्ड लटक रहा था, उस पर मोटे अक्षरों से लिखा हुआ था… “घर मे कोई नहीं है, मेरी बूढ़ी माँ बीमार है, मुझे थोड़ी थोड़ी देर में उन्हें खाना, दवा और टॉयलट कराने के लिए घर…

Anmol Vachan in Hindi

यह भी कट जाएगा Very Motivational Story in Hindi

एक बार एक राजा की सेवा से प्रसन्न होकर एक साधू नें उसे एक ताबीज दिया और कहा की राजन इसे अपने गले मे डाल लो और जिंदगी में कभी ऐसी परिस्थिति आये की जब तुम्हे लगे की बस अब तो सब ख़तम होने वाला है, परेशानी के भंवर मे अपने को फंसा पाओ, कोई…

Anmol Vachan in Hindi

एक भंवरे की मित्रता एक गोबरी कीड़े के साथ हो गई!!

एक भंवरे की मित्रता … एक गोबरी कीड़े के साथ हो गई. कीड़े ने भंवरे से कहा ~ भाई ! तुम मेरे सबसे अच्छे मित्र हो, इसलिये मेरे यहाँ भोजन पर आओ. अगले दिन सुबह भंवरा तैयार होकर अपने बच्चों के साथ गोबरी कीड़े के यहाँ भोजन के लिये पहुँचा. कीड़ा उन को देखकर बहुत…

Anmol Vachan in Hindi

एक ही घड़ी मुहूर्त में जन्म लेने पर भी… प्रेरक कथा

एक ही घड़ी मुहूर्त में जन्म लेने पर भी सबके कर्म और भाग्य अलग अलग क्यों एक प्रेरक कथा … एक बार एक राजा ने विद्वान ज्योतिषियों की सभा बुलाकर प्रश्न किया- मेरी जन्म पत्रिका के अनुसार मेरा राजा बनने का योग था मैं राजा बना, किन्तु उसी घड़ी मुहूर्त में अनेक जातकों ने जन्म…

Anmol Vachan in Hindi

एक सेठ और सेठानी रोज सत्संग में जाते थे।

एक सेठ और सेठानी रोज सत्संग में जाते थे। सेठजी के एक घर एक पिंजरे में तोता पाला हुआ था। तोता एक दिन पूछता हैं कि सेठजी, आप रोज कहाँ जाते है। सेठजी बोले कि सत्संग में ज्ञान सुनने जाते है। तोता कहता है, सेठजी संत महात्मा से एक बात पूछना कि में आजाद कब…

Anmol Vachan in Hindi

जब तक हो सके, आत्मनिर्भर रहो!! Moral Story in Hindi

This One is.. An Eye OPENER..! कल दिल्ली से गोवा की उड़ान में एक बुजुर्ग मिले। साथ में उनकी पत्नि भी थीं। बुजुर्ग की उम्र करीब 80 साल रही होगी। मैंने पूछा नहीं लेकिन उनकी पत्नी भी 75 पार ही रही होंगी। उम्र के सहज प्रभाव को छोड़ दें, तो दोनों करीब करीब फिट थे।…

दिल को छूँ लेनेवाली कहानी…

उस दिन सबेरे 6 बजे मैं अपने शहर से दूसरे शहर जाने के लिए निकला, मैं रेलवे स्टेशन पहुंचा, पर देरी से पहुचने कारण मेरी ट्रेन निकल चुकी थी, मेरे पास 9.30 की ट्रेन के आलावा कोई चारा नही था। मैंने सोचा कही नाश्ता कर लिया जाए, बहुत जोर की भूख लगी थी मैं होटल…

link ads