Thoughts of Munshi Premchand in Hindi Quotes

Thoughts of Munshi Premchand in Hindi Quotes
Thoughts of Munshi Premchand in Hindi Quotes

Kartaviya Kabhi Aag Aur
Pani Ki Parwah Nahi Karta!- Munshi Premchand


” हौसलों के पंख लिए
बुलन्दियों के आसमान में
आओं उड़ चलें
सपनों में उड़ान लिए
मंजिलों की ज़ुस्तज़ु लिए
इस अनंत आकाश में
आओं उड़ चलें
संघर्षों की ज्वाला में
तन मन को मजबूती से
संकल्प एक कठोर लिए
आओं उड़ चलें
मंजिलों की ओर, अनंत आकाश में
आओं उड़ चलें
सपनों के पंख के आसरे
उम्मीदों की राह लिए
आओं उड़ चलें..आओं उंड चलें ! ”


भारतीय उपन्यास सम्राट, कहानीकार तथा प्रसिद्ध लेखक
व अपनी रचनाओं से समाज में व्याप्त समस्याओं को दर्शाने वाले
आधुनिक हिंदी के पितामाह कुशल वक्ता मुंशी प्रेमचंद जी की
पुण्यतिथि पर उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि!


यदि आप मनोरंजन चाहते हैं
तो आपको रांड और भांड के
पास जाना चाहिए साहित्य का
काम समाज का मार्गदर्शन करना है
© मुंशी प्रेमचंद जी


कैसा भी लिखूँ……पर लिखता हूँ,
लिखने पर अपने कभी…शक नहीं रखता।
“कलमकार” होकर जिस दिन ना लिखूँ,
उस दिन की रोटी का मैं…..”हक़” नही रखता।।
❣❣

ads


 
अनमोल वचन - जो सोच बदल दे!
सार्वजनिक समूह · 8,780 सदस्य
समूह में शामिल हों
अनमोल वचन ~ Words That Changed The LifeVisit for View Full Anmol Vachan Collection, Hindi Moral Stories, General Knowledge http://anmolvachan.in/
 

link ads

About Auther:

Words That Changed The Life Precious Words...