Currently browsing:- Prernadayak Thoughts in Hindi:


ads


Anmol Vachan in Hindi

🙏🏻 पढिये प्यार कैसा होता है 🙏🏻 GREAT 💓 LOVE

वे लोग पिछले कई दिनों से इस जगह पर खाना बाँट रहे थे। हैरानी की बात ये थी कि एक कुत्ता हर रोज आता था और किसी न किसी के हाथ से खाने का पैकेट छीनकर ले जाता था। आज उन्होने एक आदमी की ड्यूटी भी लगाई थी कि खाने को लेने के चक्कर में…

Anmol Vachan in Hindi

मैं नफ़रत में यक़ीन नहीं करता!!

मैं नफ़रत में यक़ीन नहीं करता क्यूँकि मेरी अरदास में रोज़ ‘सरबत का भला’ माँगा जाता है और मेरी परम्परा युद्ध में दुश्मन को भी पानी पिलाने की है मैं जातिवाद का विरोधी हूँ क्यूँकि मैं जानता हूँ कि पंच प्यारे भी दलित-पिछड़ों में से थे दर्ज़ी, नाई, भिशती, खत्री और जाट थे और मेरे…

Anmol Vachan in Hindi

एक फकीर हुआ, अगस्तीन।

एक फकीर हुआ, अगस्तीन। कोई तीस वर्षों से परमात्मा की खोज में था। भूखा और प्यासा, रोता और चिल्लाता और प्रार्थना करता। एक क्षण का विश्राम न लेता। जीवन का कोई भरोसा नहीं है। परमात्मा को पा लेना है। तो सब भांति के उपाय उसने किए। बूढ़ा हो गया था, थक गया था, परमात्मा की…

Anmol Vachan in Hindi

नकारात्मकता का कचरा

नकारात्मकता का कचरा :::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::: एक दिन देखती हूँ मोबाइल चलते-चलते कभी धीरे चलने लगता है, तो कभी हैंग होने लगता है। एक जानकार ने बताया इसे हलका करना जरूरी है, फोन ओवरलोड हो गया है। इसलिए चलने में दिक्कत करता है। मैंने बेकार की तस्वीरें, फाइलें, डाटा डीलीट कर दिये। चमत्कार सा हो गया। फोन…

guru ki khusboo prerak prshang

” गुरु की खुशबु ” एक प्रेरक प्रसंग

” गुरु की खुशबु ” एक प्रेरक प्रसंग/ फुर्सत के क्षणों में- ::::::::::::::::::::::::::::::::::::::: निजामुद्दीन औलिया एक महान मुस्लिम संत हुए हैं। एक बार एक गरीब आदमी,जिसकी बेटी विवाह योग्य थी, संत औलिया के पास इस उद्देश्य से आया कि कुछ सहायता मिल जायेगी क्योंकि संत बड़े दयालु होते हैं। संत से जब गरीब आदमी ने…

Anmol Vachan in Hindi

ऐरे-गैरों के साथ भागकर आख़िर क्या मिलता है ?

ऐरे-गैरों के साथ भागकर आख़िर क्या मिलता है ? ऐसा करने से तो…. • अपना समाज कमजोर बनता है, • सौभाग्य से मिला हुआ धर्म नष्ट होता है, • मां-बाप और परिवार की आबरू जाती है, • उन्हें रुला कर कोई सुखी नहीं हो पाती है, • संस्कार और संस्कृति का सर्वनाश होता है, •…

Anmol Vachan in Hindi

मुफ़्तख़ोरी की पराकाष्ठा!

मुफ़्तख़ोरी की पराकाष्ठा! मुफ़्त दवा, मुफ़्त जाँच, लगभग मुफ़्त राशन, मुफ़्त शिक्षा, मुफ्त विवाह, मुफ्त जमीन के पट्टे, मुफ्त मकान बनाने के पैसे, बच्चा पैदा करने पर पैसे, बच्चा पैदा नहीं (नसबंदी) करने पर पैसे, स्कूल में खाना मुफ़्त, मुफ्त जैसी बिजली 200 रुपए महीना, मुफ्त तीर्थ यात्रा, मरने पर भी पैसे, जन्म से लेकर…

Anmol Vachan in Hindi

दो शेरों की दोस्ती बिगड़ जाती है!!

दो शेरों की दोस्ती बिगड़ जाती है, दोनों ही एक दुसरे के दुश्मन हो जाते हैं, फिर दोनों एक दूसरे से 10 साल तक बात तक नही करते…… एक बार पहले शेर और उसकी बीवी-बच्चों को 25-30 कुत्ते नोचने लगते हैं……. तभी दूसरा शेर आता है, और उन कुत्तों को केले के छिलके की तरह…

Anmol Vachan in Hindi

तुम्हारे ‘कुछ नही’ से ही इस घर के सारे सुख हैं!!

अक्सर तुम शाम को घर आ कर पूछते आज क्या क्या किया?? मैं अचकचा जाती सोचने पर भी जवाब न खोज पाती कि मैंने दिन भर क्या किया आखिर वक्त ख़्वाब की तरह कहाँ बीत गया.. और हार कर कहती ‘कुछ नही’ तुम रहस्यमयी ढंग से मुस्कुरा देते!! उस दिन मेरा मुरझाया ‘कुछ नही’ सुन…

Anmol Vachan in Hindi

निश्‍चित ही पाप से तो मुक्‍त होना है!!

निश्‍चित ही पाप से तो मुक्‍त होना है। मैंने कहा, पाप वह, जो बाहर ले जाये। मैंने कहां पूण्‍य जो भीतर ले जाये। लेकिन बाहर से तो मुक्‍त होना ही है, भीतर से भी मुक्त होना है। पहले बाहर से मुक्त हो लो, तब तत्क्षण तुम पाओगे कि जिसे हमने भीतर कहा था, वह बाहर…

link ads