Currently browsing:- Prerak Prasang in Hindi:


ads


Anmol Vachan in Hindi

🙏🏻 पढिये प्यार कैसा होता है 🙏🏻 GREAT 💓 LOVE

वे लोग पिछले कई दिनों से इस जगह पर खाना बाँट रहे थे। हैरानी की बात ये थी कि एक कुत्ता हर रोज आता था और किसी न किसी के हाथ से खाने का पैकेट छीनकर ले जाता था। आज उन्होने एक आदमी की ड्यूटी भी लगाई थी कि खाने को लेने के चक्कर में…

Anmol Vachan in Hindi

मम्मी पापा ११ बजे की गाड़ी से आ रहे है !!

फ़ोन की घंटी तो सुनी मगर आलस की वजह से रजाई में ही लेटी रही। उसके पति राहुल को आखिर उठना ही पड़ा। दूसरे कमरे में पड़े फ़ोन की घंटी बजती ही जा रही थी। इतनी सुबह कौन हो सकता है जो सोने भी नहीं देता, इसी चिड़चिड़ाहट में उसने फ़ोन उठाया। “हेल्लो, कौन” तभी…

Anmol Vachan in Hindi

एक फकीर हुआ, अगस्तीन।

एक फकीर हुआ, अगस्तीन। कोई तीस वर्षों से परमात्मा की खोज में था। भूखा और प्यासा, रोता और चिल्लाता और प्रार्थना करता। एक क्षण का विश्राम न लेता। जीवन का कोई भरोसा नहीं है। परमात्मा को पा लेना है। तो सब भांति के उपाय उसने किए। बूढ़ा हो गया था, थक गया था, परमात्मा की…

guru ki khusboo prerak prshang

” गुरु की खुशबु ” एक प्रेरक प्रसंग

” गुरु की खुशबु ” एक प्रेरक प्रसंग/ फुर्सत के क्षणों में- ::::::::::::::::::::::::::::::::::::::: निजामुद्दीन औलिया एक महान मुस्लिम संत हुए हैं। एक बार एक गरीब आदमी,जिसकी बेटी विवाह योग्य थी, संत औलिया के पास इस उद्देश्य से आया कि कुछ सहायता मिल जायेगी क्योंकि संत बड़े दयालु होते हैं। संत से जब गरीब आदमी ने…

Anmol Vachan in Hindi

मानवता का अप्रतिम उदाहरण!

कल बाज़ार में फल खरीदने गया, तो देखा कि एक फल की रेहड़ी की छत से एक छोटा सा बोर्ड लटक रहा था, उस पर मोटे अक्षरों से लिखा हुआ था… “घर मे कोई नहीं है, मेरी बूढ़ी माँ बीमार है, मुझे थोड़ी थोड़ी देर में उन्हें खाना, दवा और टॉयलट कराने के लिए घर…

Anmol Vachan in Hindi

यह भी कट जाएगा Very Motivational Story in Hindi

एक बार एक राजा की सेवा से प्रसन्न होकर एक साधू नें उसे एक ताबीज दिया और कहा की राजन इसे अपने गले मे डाल लो और जिंदगी में कभी ऐसी परिस्थिति आये की जब तुम्हे लगे की बस अब तो सब ख़तम होने वाला है, परेशानी के भंवर मे अपने को फंसा पाओ, कोई…

Anmol Vachan in Hindi

तुम्हारे ‘कुछ नही’ से ही इस घर के सारे सुख हैं!!

अक्सर तुम शाम को घर आ कर पूछते आज क्या क्या किया?? मैं अचकचा जाती सोचने पर भी जवाब न खोज पाती कि मैंने दिन भर क्या किया आखिर वक्त ख़्वाब की तरह कहाँ बीत गया.. और हार कर कहती ‘कुछ नही’ तुम रहस्यमयी ढंग से मुस्कुरा देते!! उस दिन मेरा मुरझाया ‘कुछ नही’ सुन…

Anmol Vachan in Hindi

तुम अपने पद की इज्जत नहीं करते!!

थोड़ा समय लगेगा लेकिन पढ़ना जरूर, आंसू आ जाए तो जान लेना आपकी भावनाएं जीवित हैं …. बात बहुत पुरानी है। आठ-दस साल पहले की। Shared by www.AnmolVachan.in मैं अपने एक मित्र का पासपोर्ट बनवाने के लिए दिल्ली के पासपोर्ट ऑफिस गया था। उन दिनों इंटरनेट पर फार्म भरने की सुविधा नहीं थी। पासपोर्ट दफ्तर…

Anmol Vachan in Hindi

जब तक हो सके, आत्मनिर्भर रहो!! Moral Story in Hindi

This One is.. An Eye OPENER..! कल दिल्ली से गोवा की उड़ान में एक बुजुर्ग मिले। साथ में उनकी पत्नि भी थीं। बुजुर्ग की उम्र करीब 80 साल रही होगी। मैंने पूछा नहीं लेकिन उनकी पत्नी भी 75 पार ही रही होंगी। उम्र के सहज प्रभाव को छोड़ दें, तो दोनों करीब करीब फिट थे।…

Anmol Vachan in Hindi

इन्सान जैसा कर्म करता है!!

इन्सान जैसा कर्म करता है कुदरत या परमात्मा उसे वैसा ही उसे लौटा देता है। एक बार द्रोपदी सुबह तडके स्नान करने यमुना घाट पर गयी। भोर का समय था तभी उसका ध्यान सहज ही एक साधु की ओर गया जिसके शरीर पर मात्र एक लँगोटी थी। साधु स्नान के पश्चात अपनी दुसरी लँगोटी लेने…

link ads