Anmol Vachan in Hindi

मैं नफ़रत में यक़ीन नहीं करता!!

मैं नफ़रत में यक़ीन नहीं करता क्यूँकि मेरी अरदास में रोज़ ‘सरबत का भला’ माँगा जाता है और मेरी परम्परा युद्ध में दुश्मन को भी पानी पिलाने की है मैं जातिवाद का विरोधी हूँ क्यूँकि मैं जानता हूँ कि पंच प्यारे भी दलित-पिछड़ों में से थे दर्ज़ी, नाई, भिशती, खत्री और जाट थे और मेरे…

Anmol Vachan in Hindi

एक स्त्री जब उदास होती है!!

एक स्त्री जब उदास होती है..; धीमी हो जाती है.. धरती के घूमने की गति..! एक स्त्री जब मुस्कराती है..; आसमान थोड़ा झुक जाता है..! एक स्त्री जब हँसती है.. अनुचित हँसी; महाभारत होता है..! एक स्त्री की निश्छलता पर.. सकुचाने लगती है; भागीरथी..! एक स्त्री जब जिद करती है.. अपने अधिकार के लिए; यमराज…

Anmol Vachan in Hindi

माँ की वो रसोई!!

माँ की वो रसोई मेरी माँ की वो रसोई.. जिसको हम किचन नहीं चौका कहते थे माँ बनाती थी खाना और हम उसके आस पास रहते थे माँ ने उस 4×4 के कोने को बड़े सलीके से सजाया था कुछ पत्थर और कुछ तख्ते जुगाड़ कर एक मॉडुलर किचेन बनाया था माँ की उस रसोई…

moral story in hindi on daughter

जब तक बेटी हमारे घर है उनकी हर इच्छा जरूर पूरी करे!!

पाँच साल की बेटी बाज़ार में गोल गप्पे खाने के लिए मचल गई। “किस भाव से दिए भाई?” पापा नें सवाल् किया। “10 रूपये के 8 दिए हैं। गोल गप्पे वाले ने जवाब दिया… पापा को मालूम नहीं था गोलगप्पे इतने महँगे हो गये है…. जब वे खाया करते थे तब तो एक रुपये के…

Anmol Vachan in Hindi

मम्मी पापा ११ बजे की गाड़ी से आ रहे है !!

फ़ोन की घंटी तो सुनी मगर आलस की वजह से रजाई में ही लेटी रही। उसके पति राहुल को आखिर उठना ही पड़ा। दूसरे कमरे में पड़े फ़ोन की घंटी बजती ही जा रही थी। इतनी सुबह कौन हो सकता है जो सोने भी नहीं देता, इसी चिड़चिड़ाहट में उसने फ़ोन उठाया। “हेल्लो, कौन” तभी…

Anmol Vachan in Hindi

एक फकीर हुआ, अगस्तीन।

एक फकीर हुआ, अगस्तीन। कोई तीस वर्षों से परमात्मा की खोज में था। भूखा और प्यासा, रोता और चिल्लाता और प्रार्थना करता। एक क्षण का विश्राम न लेता। जीवन का कोई भरोसा नहीं है। परमात्मा को पा लेना है। तो सब भांति के उपाय उसने किए। बूढ़ा हो गया था, थक गया था, परमात्मा की…

Mein Stree Hun Kavita Quotes in Hindi

स्त्री हूँ न….

चट्टान_सी सुदृढ दिखती हूँ.. हमेशा- मुस्कुराहट रहती है_ चेहरे पर… पर_ मैं_भी टूटती हूँ.. बिखरती हूँ., मोम की तरह_ पिघल भी जाती हूँ.. काश! इस बात को_ तुम समझते ..! इसख़्याल से नम हुए पलकों को… अपने_हीं आँचल_से पोंछ फिर मुस्कुरा लेती हूँ_ स्त्री हूँ न,,,,, 🎉💕

Anmol Vachan in Hindi

नकारात्मकता का कचरा

नकारात्मकता का कचरा :::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::: एक दिन देखती हूँ मोबाइल चलते-चलते कभी धीरे चलने लगता है, तो कभी हैंग होने लगता है। एक जानकार ने बताया इसे हलका करना जरूरी है, फोन ओवरलोड हो गया है। इसलिए चलने में दिक्कत करता है। मैंने बेकार की तस्वीरें, फाइलें, डाटा डीलीट कर दिये। चमत्कार सा हो गया। फोन…

guru ki khusboo prerak prshang

” गुरु की खुशबु ” एक प्रेरक प्रसंग

” गुरु की खुशबु ” एक प्रेरक प्रसंग/ फुर्सत के क्षणों में- ::::::::::::::::::::::::::::::::::::::: निजामुद्दीन औलिया एक महान मुस्लिम संत हुए हैं। एक बार एक गरीब आदमी,जिसकी बेटी विवाह योग्य थी, संत औलिया के पास इस उद्देश्य से आया कि कुछ सहायता मिल जायेगी क्योंकि संत बड़े दयालु होते हैं। संत से जब गरीब आदमी ने…

Anmol Vachan in Hindi

OTP FRAUD का एक विचित्र मामला

कल शाम को एक call आई, कोई लड़की थी बोली,” सर, मैं जॉब के लिए रजिस्ट्रेशन कर रही थी । गलती से आपका नम्बर डाल दिया है, क्योकि मेरे और आपके मोबाइल नंबर में काफी समानता है । आपके पास थोड़ी देर में एक ओटीपी (OTP) आएगी, प्लीज बता दो सर, मेरी ज़िन्दगी का सवाल…