मैं “किसी से” बेहतर करुं क्या फर्क पड़ता है!!

Mein Kisi Se Behtar Karu Anmol Vachan
Mein Kisi Se Behtar Karu Anmol Vachan

मैं “किसी से” बेहतर करुं क्या फर्क पड़ता है..!
मै “किसी का” बेहतर करूं बहुत फर्क पड़ता है..!!

Mein Kisi Se Behtar Karu Kya Farq Padta Hai,
Main Kisi Ka Behtar Karu Bahut Farq Padta Hai

🌹🌹🌹Read Carefully🌹🌹🌹

एक काफिला सफ़र के दौरान अँधेरी सुरंग से गुजर रहा था । उनके पैरों में कंकरिया चुभी, कुछ लोगों ने इस ख्याल से कि किसी और को ना चुभ जाये, नेकी की खातिर उठाकर जेब में रख ली ।  कुछ ने ज्यादा उठाई कुछ ने कम । जब अँधेरी सुरंग से बाहर आये तो देखा वो हीरे थे। जिन्होंने कम उठाये वो पछताए कि ज्यादा क्यों नहीं उठाए । जिन्होंने नहीं उठाए वो और पछताए । दुनिया में जिन्दगी की मिसाल इस अँधेरी सुरंग जैसी है और नेकी यहाँ कंकरियों की मानिंद है । इस जिंदगी में जो नेकी की वो आखिर में हीरे की तरह कीमती होगी और इन्सान तरसेगा कि और ज्यादा क्यों ना की !

✍✍✍✍✍🕌✍✍✍✍✍

ads


 
अनमोल वचन - जो सोच बदल दे!
सार्वजनिक समूह · 8,780 सदस्य
समूह में शामिल हों
अनमोल वचन ~ Words That Changed The Life Visit for View Full Anmol Vachan Collection, Hindi Moral Stories, General Knowledge http://anmolvachan.in/
 

link ads

About Auther:

Words That Changed The Life Precious Words...

3 thoughts on “मैं “किसी से” बेहतर करुं क्या फर्क पड़ता है!!

  1. yeah post yeah batati Hai Ki Rishte Hamare Jeevan mein bahut important rakhte Hain Rishton Ke Bina Jeevan Sambhav nahi hai agar ISI Tarah Se Pyaar Mohabbat Se Rishta nibhaya Jaye to Jeevan Khushal ho jata hai

  2. आपके सारे विचार पढ़ कर सभी के अंदर मोटिवेशन की आगे जलती है और दिल कहता है यही समय है कुछ कर गुजरने का.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *