Hindi Poems on Maa for Mothers Day

Hindi Poems on Maa for Mothers Day

Hindi Poems on Maa for Mothers Day

Har Ek Had Se Guzar Gai Maa !
Bacche Ke Liye Bazar Main Utar Gai Maa !
Maa Ke Pashine Ne Ghar Main Mahkaye Gulab !
Apne Arman Khud he Kutar Gai Maa !
Jab Se Bahu Aai Hai… Wah Chup Chap He Rahti hai !
Auladon Ka Kahna Hai Sudhar Gai Maa !
Bahu Bete Ne Kiya Tha Jaan Lewa Hamla !
Jab Police Aai Tab Mukar Gai Maa !
Ab Kewal Yadon Main Nazar Aayegi Teri Duniya !
Chhod Kar Upar Gai Maa !!

हर एक हद से गुजर गयी माँ
बच्चे के लिए बाज़ार में उतर गयी माँ
माँ के पसीने ने घर में महकाये गुलाब
अपने अरमान ख़ुद ही कुतर गयी माँ
जब से बहू आयी है,
वह चुपचाप ही रहती है..
औलादो का कहना है, सुधर गयी माँ
बहू बेटे ने किया था जानलेवा हमला
जब पुलिस आयी तब मुकर गयी माँ
अब केवल यादों में नजर
आयेगी तेरी दुनिया
छोड़ के ऊपर चली गयी माँ

00

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *