Hindi Anmol Vachan Suvichar by Muni Pragyasagar

Hindi Anmol Vachan Suvichar by Muni Pragyasagar

Hindi Anmol Vachan Suvichar by Muni Pragyasagar

जितने अच्छे से आप दूसरों से, दूसरों की स्त्रियों से,
दूसरों के माँ बाप से, दूसरों के बच्चों से बात करते है
उतने ही अच्छे से यदि अपनों से बात करने लगें तो घर मैं हे स्वर्ग ऊतर आएगा!!

Jitne Acche Se Aap Dusron Se, Dusron Ki Striyon Se,
Dusron Ke Maa Baap Se, Dusron Ke Bacchon Se Baat Karte Hai
Utne He Acche Se Yadi Apno Se Baat Karne Lagen To
Ghar Main He Swarg Utar Aayega


अच्छा हे की रिश्तो का कब्रिस्तान नहीं होता,
वरना जमीन कम पड़ जाती|


स्वेटर की तरह बुना था जो रिश्ता
कहीं उसका धागा एक छूटा हुआ है


जिस बेनाम बचपन के लिए पूरी जवानी
पिताजी की वृहत परछाई को कोसा,
उस परछाई को अब देखने पर मालूम होता है
कि वो पिताजी की दी हुई छांव थी।

ads


 
अनमोल वचन - जो सोच बदल दे!
सार्वजनिक समूह · 8,780 सदस्य
समूह में शामिल हों
अनमोल वचन ~ Words That Changed The Life Visit for View Full Anmol Vachan Collection, Hindi Moral Stories, General Knowledge http://anmolvachan.in/
 

link ads

About Auther:

Words That Changed The Life Precious Words...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *