Dharmik Vichar in Hindi by Pragyasagar ji Maharaj Suvichar

Dharmik Vichar in Hindi by Pragyasagar ji Maharaj Suvichar

Dharmik Vichar in Hindi by Pragyasagar ji Maharaj Suvichar

Agar Tum Jaag Rahe Ho To Soton Ko Jagao
Kyunki Jagne Ka Waqt Aa Gaya Hai
Is Liye Apni Tarah Logo Ko Dharm Va Satsang
Se Jodo Aur Uneh Bhi Dharmik Banao  – Pragyasagar ji Maharaj


More Hindi Quotes:-

जिंदगी की बाजी तो कभी भी बदली जा सकती है
बस इतना ताकत आपके अंदर होनी चाहिए।


आप तब तक हार नहीं सकते हैं जब तक कि
आप जीतने की आस ना छोड़ दें।


अनभिज्ञ, अनजान कर बैठा मैं नादान कुछ गलतियां,,
टिस बन चुभती अंतर्मन को टटोलती कुछ गलतियां,,
आंखों से ज्वलन, चक्षुजल गिराती कुछ गलतियां,,
देह विपक्षी, कभी भी सुधरती नहीं ये, कुछ गलतियां,,


पागलपन मुझमें भी है
मैं तुम लोगों से जुदा नहीं हूं।
गुस्सा मुझमें भी भरा है तरीके से,
इंसान हूं कोई खुदा नहीं हूं।


निभाने की चाहत दोनो तरफ से हो…
तो कोई भी रिस्ता खत्म नही होता…


बेहद मुश्किल से अश्कों को रोक रखा है जनाब,
“वो हमारे आंसुओं के काबिल भी नहीं”
यही कह कर दिल को समझा लिए करते हैं।


अगर मेरे सफलता और उड़ान को देखना चाहते
हो तो अपना पैमाना और नजरिए को बदल लो।

ads


 
अनमोल वचन - जो सोच बदल दे!
सार्वजनिक समूह · 8,780 सदस्य
समूह में शामिल हों
अनमोल वचन ~ Words That Changed The LifeVisit for View Full Anmol Vachan Collection, Hindi Moral Stories, General Knowledge http://anmolvachan.in/
 

link ads

About Auther:

Words That Changed The Life Precious Words...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *