Bhakti Quotes in Hindi Anmol Vachan by Pragyasagar ji

Bhakti Quotes in Hindi Anmol Vachan by Pragyasagar ji
Bhakti Quotes in Hindi Anmol Vachan by Pragyasagar ji

Agar Aap Malamaal Hona Chahte Hain Aur
Humesa Malamaal Rahna Chahte Hain
To Din Main EK Baar Mala Ginne Se Pahile
Prabhu Naam Ki Mala Jarur Gine
Kyun Ki Mala + Maal = Mala Maal  – Pragyasagar ji Maharaj


अब तो जीवन में तन्हाई है
पापा, आपके यादों का है पहरा।
न जाने किस तरफ ले जाएगी जिंदगी
न मांझी बचा न पतवार का सहारा।


किसी की काबिलियत किसी डिग्री के मोहताज
नहीं होती है, वह इंसान हर डिग्री से बड़ा होता है।


अपने जीवन की किताब कलम से लिखें पेंसिल से
नहीं,क्योंकि अक्सर लोग पेंसिल से लिखी हुई
बातों को आसानी से मिटा देते हैं।


ये नाराज़गी का पल्लू हटा भी दो
अब मुलाकात की हया मे आ जाओ
चलो रिवाज़ कुछ बदल देते हैं मोहब्बत मे
इस दफा ग़लती मै अपनी मान लेती हूँ…!!


रिश्तों में एहसास ही उसे जिलाए रखता है,
वरना छोटी बहन भी कब मां बन जाए,
ये किस किताब में लिखा होता है,
पर हां जहां प्यार ममता लगाव ध्यान,
ये सबके बीच की रेखाएं मिट जाएं,
उन्हीं एहसासों की किताबों में ऐसा लिखा होता है।

ads


 
अनमोल वचन - जो सोच बदल दे!
सार्वजनिक समूह · 8,780 सदस्य
समूह में शामिल हों
अनमोल वचन ~ Words That Changed The LifeVisit for View Full Anmol Vachan Collection, Hindi Moral Stories, General Knowledge http://anmolvachan.in/
 

link ads

About Auther:

Words That Changed The Life Precious Words...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *