झूठे दिलासे से स्पष्ट इंकार बेहतर है!!

अच्छा दिखने के लिये मत जिओ बल्कि अच्छा बनने के लिए जिओ!!
 
जो झुक सकता है वह सारी दुनिया को झुका सकता है!!
 
गंगा में डुबकी लगाकर तीर्थ किये हजार,
इनसे क्या होगा अगर बदले नहीं विचार!!
 
क्रोध हवा का वह झोंका है जो बुद्धि के दीपक को बुझा देता है!!
 
अगर बुरी आदत समय पर न बदली जाये तो बुरी आदत समय बदल देती है!!
 
हमेशा प्रेम की भाषा बोलिए,
इसे बहरे भी सुन सकते हैं और गुंगे भी समझ सकते हैं!!
 
चलते रहने से ही सफलता है,
रुका हुआ तो पानी भी बेकार हो जाता है..!!
 
झूठे दिलासे से स्पष्ट इंकार बेहतर है….
 
खुद की भुल स्वीकारने में कभी संकोच मत करो!!
 
अच्छी सोच, अच्छी भावना, अच्छा विचार मन को हल्का करता है!!
 
मुसीबत सब पर आती है, कोई बिखर जाता है और कोई निखर जाता है!!
 
सबसे अधिक समझदार वह है
जो अपनी कमियो को जानकर उनका सुधार कर सकता हो
 
? हम बदलेगे, युग बदलेगा।?
113

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *