~ ज़िन्दगी के पाँच सच ~
सच नं. 1 -:
माँ के सिवा कोई वफादार नही हो सकता…!!!
────────────────────────
सच नं. 2 -:
गरीब का कोई दोस्त नही हो सकता…!!
────────────────────────
सच नं. 3 -:
आज भी लोग अच्छी सोच को नही,
अच्छी सूरत को तरजीह देते हैं…!!!
────────────────────────
सच नं. 4 -:
इज्जत सिर्फ पैसे की है, इंसान की नही…!!!
────────────────────────
सच न. 5 -:
जिस शख्स को अपना खास समझो….
अधिकतर वही शख्स दुख दर्द देता है…!!!
────────────────────────

32 21

2 Comments

  1. Acha laga or samaj bhi gye ……………..nice

  2. Very very nice
    Bahut achhi isse sikhane ko mili
    Or yhi sach v h
    Aaj k samy me v yhi ho rha h

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *